Ganesh Aarti by fjwuxn

VIEWS: 279 PAGES: 1

									 


     

                  आरती गणेश जी की 
                     ी

                            

               जय गणेश, जय गणेश दे वा 

            माता जाकी पावर्ती िपता महादे वा 

                     य
            एक दन्त दयावन्त चार भुजा धारी 

        माथे पर ितलक सोहे मूसे की सवारी. जय... 

                                न
           अंधन को आँख दे त कोिढ़न को काया 

           झन
        बांझ को पुऽ दे त िनधर्न को माया. जय...

           ार     ू चढ़े      मे
          हा चढ़े फ़ल च और चढ़े मवा. जय... 

           ल अन का भ लगे संत करें . सेवा 
           लड्डु   भोग

            दीनन की ला रखों शम्भु सुतवारी 
            द        ाज        भु

            ू        ण      ल
          सूर ँयाम शरण आए सफ़ल कीजे सेवा 

          मना       करो
        काम को पूरा क जग          ि
                                 बिलहारी. जय...

                            

                            

								
To top